महिला मनोरमा : बैजनाथ सहाय मुख़्तार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – काव्य | Mahila Manorama : by Baijnath Sahay Mukhtar Hindi PDF Book – Poetry (Kavya)

महिला मनोरमा : बैजनाथ सहाय मुख़्तार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - काव्य | Mahila Manorama : by Baijnath Sahay Mukhtar Hindi PDF Book - Poetry (Kavya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name महिला मनोरमा / Mahila Manorama
Author
Category, , , , , ,
Language
Pages 196
Quality Good
Size 6.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : कन्या कौमुदी के विषय में मुझे इतना ही कहना है की ‘देवी’ तथा लक्ष्मी के पवित्र पद तक पहुंचने के लिए एक स्त्री में जित जिल गुणों के विकास की आवश्यकता है ‘कन्या कौमुदी’ में उत सब का समावेश है। साथ ही प्रत्येक निबंध के नीचे लेखक ले उसी विषय की एक एक सुन्दर कहानी जुड जाती है……..

Pustak Ka Vivaran : Kanya kaumudi ke vishay mein mujhe itana hee kahana hai kee Devi tatha Lakshmi ke Pavitra pad tak pahunchane ke liye ek Stri mein jin jin gunon ke vikas ki Aavashyakata hai kanya kaumudi mein un sab ka samavesh hai. Sath hi Pratyek Nibandh ke Neeche Lekhak ne usee Vishay ki ek ek sundar kahani jud jati hai………

Description about eBook : All I have to say about Kanya Kaumudi is that all the qualities that need to be developed in a woman to reach the holy post of ‘Goddess’ and Lakshmi, ‘Kanya Kaumudi’ include them all. Also, below each essay, the author adds a beautiful story of the same subject ……….

“मित्र क्या है? एक आत्मा जो दो शरीरों में निवास करती है।” ‐ अरस्तू
“What is a friend? A single soul dwelling in two bodies.” ‐ Aristotle

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment