मल्हार : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Malhar : Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameमल्हार / Malhar
Category, , , ,
Language
Pages 233
Quality Good
Size 16 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : लोगों का लुप्त होना जारी रहा, कितु पिछले आठ माह से यह घटनाएँ कुछ अधिक बढ़ गई, तो सम्राट के भाई और सलाहकार प्रसेनजित ने यह विषय अपने हाथ में लेते हुए राजकुमार यज्ञ को यहाँ का दौरा करने के लिए कहा। यज्ञ का यह पाँचवाँ दौरा था। वह क्षेत्र के मात्र बाहरी भाग की ही पड़ताल कर पाता था। जब भी आंतरिक भागों में जाने का प्रयास करता……..

Pustak Ka Vivaran : Logon ka lupt hona jari raha, Kintu Pichhale aath mah se yah Ghatanayen kuchh adhik badh gayin, to Samrat ke bhai aur salahakar prasenajit ne yah vishay apane hath mein lete huye Rajkumar yagy ko yahan ka daura karne ke liye kaha. Yagy ka yah Panchavan daura tha. Vah kshetra ke matra bahari bhag ki hi Padtal kar pata tha. Jab bhi Antarik bhagon mein jane ka prayas karata………….

Description about eBook : People continued to disappear, but for the last eight months, these incidents increased a bit, so Prasenjit, the emperor’s brother and advisor, took the matter into his own hands and asked Prince Yagya to visit here. This was the fifth tour of the Yagya. He could only explore the outer part of the area. Whenever I try to go to the internal parts………

“हम सभी बेबस हैं, लेकिन हम में से कुछ सितारों की ओर देख रहे हैं।” – ऑस्कर वाइल्ड
“We are all in the gutter, but some of us are looking at the stars.” -Oscar Wilde

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment