आंचलिक उपन्यास सम्वेदना और शिल्प : डॉ. ज्ञानचन्द गुप्त द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Anchalik Upanyas SamvedanaaAur Shilp : by Dr. Gyanchand Gupt Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

आंचलिक उपन्यास सम्वेदना और शिल्प : डॉ. ज्ञानचन्द गुप्त द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Anchalik Upanyas SamvedanaaAur Shilp : by Dr. Gyanchand Gupt Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name आंचलिक उपन्यास सम्वेदना और शिल्प / Anchalik Upanyas SamvedanaaAur Shilp
Author
Category, ,
Language
Pages 120
Quality Good
Size 2.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : पानी की गहराइयों से जूझने वाले ये लोग बड़े हिम्मती होते है। खुरखुन सारे देहात में प्रसिद्द से जूझने के लिए। इनका जीवन बड़ा ही संघर्षशील है। अभावों से जूझते है, रोगों से जूझते है, कीड़े- मकोड़े से जूझते है और प्रकृति से ट्रेनिंग ले जमीदारों से भी जूझते है। उपन्यास का कधानक आचलिक उपन्यासों जैसा बिखराव………..

Pustak Ka Vivaran : Pani kee gaharaiyon se joojhane vale ye log bade himmati hote hai. khurakhun sare dehaat mein prasidd se joojhane ke liye. Inaka jeevan bada hi sangharshasheel hai. Abhavon se joojhate hai, rogon se joojhate hai, keede-makode se joojhate hai aur prakrti se trening le jameedaron se bhee joojhate hai. Upanyas ka kathanak Aanchalik upanyason jaisa bikharav………….

Description about eBook : These people, who struggle with the depths of water, are very strong. Khurkhun to fight with fame throughout the countryside. His life is very struggling. They struggle with scarcity, suffer from diseases, grapple with insects and also take training from nature and fight with landlords. The plot of the novel is scattered like regional novels…………

“जब आपका जन्म हुआ तो आप रोए और जग हंसा था। अपने जीवन को इस प्रकार से जीएं कि जब आपकी मृत्यु हो तो दुनिया रोए और आप हंसें।” ‐ कबीर
“When you were born, you cried, and the world rejoiced. Live your life in such a manner that when you die, the world cries and you rejoice.” ‐ Kabir

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment