नातन : लेसिंग द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – नाटक | Natan : by Lessing Hindi PDF Book – Drama (Natak)

नातन : लेसिंग द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - नाटक | Natan : by Lessing Hindi PDF Book - Drama (Natak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नातन / Natan
Author
Category, , , ,
Pages 344
Quality Good
Size 9.13 MB
Download Status Available

नातन का संछिप्त विवरण : आजकल हमारे देश में जो उपद्रव उपस्थित है उसके कारणों में से एक बढ़ा कारण यह है कि परस्पर लडने वाले एक दूसरे के धार्मिक मतों से अज्ञान हैं और प्रत्येक मतावलंबी संकीर्ण हृदय और अदूरदर्शिता से काम ले रहा है। दुर्भाग्यवश साहित्य भी ऐसा निकल रहा है जो एक को दूसरे से लड़ाने में सहायता दे रहा है। यदि दोनों …….

Natan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aajkal Hamare Desh mein jo Upadrav upasthit hai usake karanon mein se ek badha karan yah hai ki paraspar ladane vale ek doosare ke dharmik Maton se Agyan hain aur pratyek Matavalambi Sankeern hrdayaur Adooradarshita se kam le Raha hai. Durbhagyavash sahity bhi Aisa Nikal raha hai jo ek ko doosare se ladane mein sahayata de raha hai. Yadi donon……….
Short Description of Natan PDF Book : One of the reasons for the disturbance that is present in our country these days is that each of the contestants are ignorant of each other’s religious beliefs and each is acting with a narrow heart and short-sightedness. Unfortunately, literature is also coming out which is helping one to fight the other. If both……….
“धन क्या है? एक व्यक्ति कामयाब तब है जब वह सुबह उठने और रात को सोने के बीच वह करता है जो वह करना चाहता है।” बॉब डिलन
“What’s money? A man is a success if he gets up in the morning and goes to bed at night and in between does what he wants to do.” Bob Dylan

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment