पाखी घोड़ा : वीरेन्द्र कुमार भट्टाचार्य द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Pakhi Ghoda : by Veerendra Kumar Bhattacharya Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameपाखी घोड़ा / Pakhi Ghoda
Author
Category, , , ,
Language
Pages 437
Quality Good
Size 28.7 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : एक लेखक के तौर पर मेरी रचनात्मक चेतना तथा आलोचनात्मक चेतना के बीच निरन्तर संघर्ष चलता रहता है। किसी रचना पर जब मई काम कर रहा हूँ तो मेरी यही अति आलोचानत्मक चेतना अकसर विवरणों के स्वातःस्फूर्त प्रवाह में अवरोध पैदा करने लगती है। इसके अतिरक्त उपलिखित……

Pustak Ka Vivaran : Ek Lekhak ke taur par meri Rachanatmak chetana tatha aalochanatmak chetana ke beech nirantar sangharsh chalata rahata hai. Kisee rachana par jab maee kam kar raha hoon to meri yahi ati aalochanatmak chetana akasar vivaranon ke svaat:sphoort pravah mein avarodh paida karane lagatee hai. isake atirakt upalikhit…………

Description about eBook : As a writer, there is a constant struggle between my creative consciousness and critical consciousness. When I am working on a composition, this very critical consciousness of mine often starts to obstruct the spontaneous flow of details. Addition to the above………..

“दूसरों को नियंत्रित करने वाला व्यक्ति शक्तिशाली हो सकता है, लेकिन जिस व्यक्ति ने स्वयं पर विजय प्राप्त कर ली हो, वह उससे कहीं अधिक महान बलशाली होता है।” ताओ ते चिंग
“He who controls others may be powerful, but he who has mastered himself is mightier still.” Tao Te Ching

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment