संसार की पाँच प्रमुख शासन – प्रणालियाँ : अनूप चन्द कपूर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Sansar Ki Pramukh Shasan – Pranaliyan : by Anoop Chand Kapoor Hindi PDF Book – Social (Samajik)

संसार की पाँच प्रमुख शासन - प्रणालियाँ : अनूप चन्द कपूर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Sansar Ki Pramukh Shasan - Pranaliyan : by Anoop Chand Kapoor Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name संसार की पाँच प्रमुख शासन – प्रणालियाँ / Sansar Ki Pramukh Shasan – Pranaliyan
Author
Category, ,
Pages 952
Quality Good
Size 48 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : संक्षेप में, ब्रिटिश संविधान ऐसे नियमों का एक समूह है जो राजनीतिक संस्थाओं के संगठन एव कार्यों का तथा उनके संचालन के सिद्धान्तो का वर्णन करते हैं | उसका स्वरूप ठीक वैसा ही है जैसा कि अन्य किसी देश के संविधान का अंतर केवल यही है कि अम्रेजी संविधान को कभी क्रमवद्ध, संहितावद्ध श्रोद सुव्यवस्थितत रूप मे नही रक्खा गया है…………

Pustak Ka Vivaran : Sankshep mein, british sanvidhan aise niyamon ka ek samooh hai jo Rajneetik sansthaon ke sangathan ev karyon ka tatha unake sanchalan ke siddhanto ka varnan karate hain . Usaka svaroop theek vaisa hee hai jaisa ki any kisi desh ke sanvidhan ka antar keval yahi hai ki angneji sanvidhan ko kabhi kramavaddh, sanhitavaddh shrod suvyavasthitat roop me nahi rakkha gaya hai…………

Description about eBook : In short, the British Constitution is a set of rules that describe the organization and functions of political institutions and the principles of their operation. Its form is exactly the same as the difference of the constitution of any other country is that the Agneji constitution has never been kept in a systematic, codified manner …………

“मैं आज जो हूं उसका कारण है वे निर्णय जो मैंने कल किए थे।” ‐ एलेनॉर रूज़वेल्ट
“I am who I am today because of the choices I made yesterday.” ‐ Eleanor Roosevelt

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment