वैदिककाल का इतिहास : आर्य्यमुनिजी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Vaidik Kal Ka Itihas : by Aaryyamuniji Hindi PDF Book

वैदिककाल का इतिहास : आर्य्यमुनिजी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Vaidik Kal Ka Itihas : by Aaryyamuniji Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name वैदिककाल का इतिहास / Vaidik Kal Ka Itihas
Author
Category, ,
Pages 174
Quality Good
Size 36 MB
Download Status Available

वैदिककाल का इतिहास का संछिप्त विवरण : जब हम इस समय की सभी समाजों पर इष्टि डालते हैं तो प्राचीन काल की सभाओं से बड़ा अन्तर पाते हैं, वास्तव में हमारी सभा समाज की ऐसी हीनदशा हो रही है कि बड़ी-बड़ी सभाये होतीं, वक्ता लोग बड़े-बड़े व्याख्यान अपना सारा बल लगा कर देते परन्तु वक्‍ता तथा श्रोताओं का मन, बच, कर्म एक न होने से हम अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं हो सकते………..

Vaidik Kal Ka Itihas PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jab ham is samay ki sabhi samajon par drshti dalate hain to prachin kal ki sabhaon se bada antar pate hain, vastav mein hamari sabha samaj ki aisi hinadasha ho rahi hai ki badi-badi sabhaye hotin, vakta log bade-bade vyakhyan apana sara bal laga kar dete parantu vakta tatha shrotaon ka man, vach, karm ek na hone se ham apane lakshy ko prapt nahin ho sakate………….
Short Description of Vaidik Kal Ka Itihas PDF Book : When we take a look at all the societies of this time, we get a big difference from the meetings of ancient times, in reality our assembly is becoming such an inferiority complex that there were large assemblies, speakers used to have big lectures all the force But the speakers, listeners, minds, actions are not one, we can not achieve our goal……………
“नफरत जितनी चिंगारियां को बुझाती है प्रेम उससे कहीं अधिक चिंगारियां पैदा करता है।” ‐ एला व्हीलर विलकोक्स
“Love lights more fire than hate extinguishes.” ‐ Ella Wheeler Wilcox

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment