आश्रम संहिता : काकसाहेब कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Ashram Sanhita : by Kakasaheb Kalelkar Hindi PDF Book – History (Itihas)

आश्रम संहिता : काकसाहेब कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - इतिहास | Ashram Sanhita : by Kakasaheb Kalelkar Hindi PDF Book - History (Itihas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name आश्रम संहिता / Ashram Sanhita
Author
Category, ,
Language
Pages 192
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : देशसेवा करने का तरीका सीखने के लिए और देशसेवा करने के लिए गांधीजी ने साबरमती किनारे बरसों तक सतिगृहश्रम चलाया। और असुका उद्देश्य पूरा होने पर असु आश्रम का विसर्जन करने की बुद्धिमानी और हिम्मत भी बताई। सत्यग्राश्रम से पप्रेरणा पाकर असि के नमूने पर छोटे-बड़े कई आश्रम भारत में जगह-जगह पर खोले गए…..

Pustak Ka Vivaran : Deshaseva karane ka tareeka seekhane ke lie aur deshaseva karane ke lie Gandheejee ne sabaramatee kinare barason tak satigrhashram chalaaya. aur asuka uddeshy poora hone par asu aashram ka visarjan karane kee buddhimani aur himmat bhi batayi. Satyagrashram se paprerana pakar asi ke namoone par chhote-bade kayi Ashram bharat mein jagah-jagah par khole gaye………….

Description about eBook : In order to learn how to serve the country and to serve the country, Gandhiji ran a Satigrahmashram for years on the Sabarmati shore. And Asuka also showed the wisdom and courage to immerse the Asu Ashram when the purpose was fulfilled. After getting inspiration from Satyagraha Ashram, many ashrams, big and small, were opened at different places in India…………

“हमें जो मिलता है, उससे हम जीविका बना सकते हैं; लेकिन हम जो देते हैं, वह जीवन बनाता है।” आर्थर एशे
“From what we get, we can make a living; what we give, however, makes a life.” Arthur Ashe

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment