हू मूव्ड माय चीज : डॉ. स्पेंसर जॉनसन द्वारा हिंदी ऑडियो बुक | Who Moved My Cheese : by Dr. Spenser Johnson Hindi Audiobook

हू मूव्ड माय चीज : डॉ. स्पेंसर जॉनसन द्वारा हिंदी ऑडियो बुक | Who Moved My Cheese : by Dr. Spenser Johnson Hindi Audiobook
पुस्तक का विवरण / Book Details
AudioBook Name हू मूव्ड माय चीज / Who Moved My Cheese
Author
Category,
Language
Duration 49:05 mins
Source Youtube

Declutter Your Mind Hindi Audiobook का संक्षिप्त विवरण : मेरा चीज़ किसने हटाया ? की “कहानी के पीछे की कहानी’ बताने में मैं रोमांच का अनुभव कर रहा हूँ । इसलिये क्योंकि यह पुस्तक अब लिखी जा चुकी है और यह हम सबके पढ़ने, खुश होने और एक दूसरे के साथ बाँटने के लिये तैयार है । इसका इंतज़ार मैं तब से कर रहा था जब मैंने पहली बार स्पेंसर जॉनसन के मुँह से चीज़ की क्रांतिकारी कहानी सुनी थी । यह बरसों पहले की बात है । जब हमने इकट्ठे ‘द वन मिनट मैनेजर” लिखी थी, उससे भी पहले की । मुझे याद है उसी वक्‍त मेरे दिल में यह खयाल आया था कि यह कहानी कितनी बढ़िया है और आगे चल कर यह मेरे कितने काम आयेगी । मेरा चीज़ किसने हटाया परिवर्तन की कहानी है । यह परिवर्तन एक भूलभुलैया में घटित होता है जहाँ चार मज़ेदार पात्र चीज़ की खोज कर रहे हैं । चीज़ उस वस्तु का प्रतीक है जिसे हम जीवन में हासिल करना चाहते हैं: चाहे वह नौकरी हो, प्यार हो, दौलत, बड़ा घर, आज़ादी, स्वास्थ्य, मान-सम्मान, आध्यात्मिक शांति या जॉरगिंग या गोल्फ की तरह की कोई दूसरी वस्तु हो। हमारा चीज़ क्या है इस बारे में हममें से हर एक का अपना विचार होता है । हम चीज़ का पीछा इसलिये करते हैं क्योंकि हमें यह भरोसा होता है कि इसे हासिल करने के बाद हम सुखी हो जायेंगे । अगर हम चीज़को हासिल कर लेते हैं तो हमें इसकी आदत पड़ जाती है। इसीलिये जब हम इसे खो देते हैं या यह हमसे दूर हो जाता है तो हमें बहुत दुख होता है । कहानी में भूलभुलैया उस जगह का प्रतीक है जहाँ आप अपनी मनचाही वस्तु की तलाश करते हैं । यह वह ऑफिस हो सकता है जिसमें आप काम करे हैं, वह समाज जिसमें आप रहते हैं या वह संबंध जो आपने बनाये हैं ।

कहानी में भूलभुलैया उस जगह का प्रतीक है जहाँ आप अपनी मनचाही वस्तु की तलाश करते हैं । यह वह ऑफिस हो सकता है जिसमें आप काम करते हैं, वह समाज जिसमें आप रहते हैं या वह संबंध जो आपने बनाये हैं । मैं आपको बता दूँ कि जो ‘चीज़-कथा आप पढ़ने जा रहे हैं, सारी दुनिया में अपने भाषणों में मैं इसका ज़िक्र करता रहता हूँ और बाद में अक्सर लोग मुझे यह बताते हैं कि इससे उनकी ज़िंदगी में कितना बड़ा बदलाव आया । आप मानें या न मानें, इस छोटी सी कहानी ने कई नौकरियां, शादियां और जिंदगियां बचायी हैं।

“’आंख के बदले आंख’ के प्राचीन सिद्धान्त से तो एक दिन सभी अंधे हो जाएंगे।” ‐ मार्टिन लुथर किंग, जूनियर
“The old law about ‘an eye for an eye’ leaves everybody blind.” ‐ Martin Luther King, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment