डॉ. अम्बेडकर : लेजिस्लेटिव काउन्सिल में : डॉ. बी. आर. अम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Dr. Ambedkar : Legislative Council Me : by Dr. B. R. Ambedkar Hindi PDF Book

डॉ. अम्बेडकर : लेजिस्लेटिव काउन्सिल में : डॉ. बी. आर. अम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Dr. Ambedkar : Legislative Council Me : by Dr. B. R. Ambedkar Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name डॉ. अम्बेडकर : लेजिस्लेटिव काउन्सिल में / Dr. Ambedkar : Legislative Council Me
Author
Category,
Language
Pages 399
Quality Good
Size 55 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : दलित युवाओं को मेरा यह पैगाम है की एक तो वे शिक्षा और बुद्धि में किसी से कम न रहे, दुसरे ऐसो-आराम में न पड़कर समाज नेतृत्व करें | तीसरे, समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी संभाले तथा समाज को जागृत और संगठित कर उसकी सच्ची सेवा करें.पुस्तक का विवरण : कार्य करने की वास्तविक स्वतंत्रता केवल वही पर होती है, जहां शोषण का समूल नाश कर दिया जाता है, जहाँ एक वर्ग द्वारा दूसरे वर्ग पर अत्याचार नहीं किया जाता, जहां बेरोज़गारी नहीं है, जहां गरीबी नहीं है, जहाँ किसी व्यक्ति को अपने धंधे के हाथ से निकल जाने का भय नहीं है, अपने कार्यों के हा जहां व्यक्ति अपने धंधे की हानी, घर की हानी तथा रोज़ी रोटी की हनी के भय से मुक्त………

PustakKaVivaran : Kaary karane kee vaastavik svatantrata keval vahee par hotee hai, jahaan shoshan ka samool naash kar diya jaata hai, jahaan ek varg dvaara doosare varg par atyaachaar nahin kiya jaata, jahaan berozagaaree nahin hai, jahaan gareebee nahin hai, jahaan kisee vyakti ko apane dhandhe ke haath se nikal jaane ka bhay nahin hai, apane kaaryon ke parinaamasvaroop jahaan vyakti apane dhandhe kee haanee, ghar kee haanee tatha rozee rotee kee hanee ke bhay se mukt hai………….

Description about eBook : The actual freedom of work is only on the same where the exploitation is destroyed, where there is no oppression of another class by another, where there is no unemployment, where there is no poverty, where no person is in the business of his business There is no fear of going out of hand, as a result of their actions, where the person is free from the fear of the loss of his business, the loss of the house and the hunger of the bread……………

“कुछ लोग जिसे ग़लती से जीवन स्तर की बढ़ती कीमतें समझ बैठते हैं, वह वास्तव में बढ़ चढ़ कर जीने की कीमत होती है।” ‐ डग लारसन
“What some people mistake for the high cost of living is really the cost of living high.” ‐ Doug Larson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

2 thoughts on “डॉ. अम्बेडकर : लेजिस्लेटिव काउन्सिल में : डॉ. बी. आर. अम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Dr. Ambedkar : Legislative Council Me : by Dr. B. R. Ambedkar Hindi PDF Book”

Leave a Comment