यूरोप का आधुनिक इतिहास भाग-२ हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Europe Ka Aadhunik Itihas Part-2 Hindi PDF Book

यूरोप का आधुनिक इतिहास भाग-२ हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Europe Ka Aadhunik Itihas Part-2 Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name यूरोप का आधुनिक इतिहास भाग-२ / Europe Ka Aadhunik Itihas Part-2
Author
Category, , ,
Pages 644
Quality Good
Size 21 MB
Download Status Available

यूरोप का आधुनिक इतिहास भाग-२ का संछिप्त विवरण : स्वतन्त्र भारत के शासन-विधान में यह बात स्वीकृत कर ली गई है, कि हिन्दी भारत की राष्ट्रभाषा है, और अधिक से अधिक पन्‍्द्रह सालों में भारत की संघ सरकार अपने प्रायः सभी कार्य हिन्दी में करने लगेगी । भारतीय संघ के अन्तर्गत अनेक राज्य हिन्दी को अपनी राजभाषा स्वीकार कर चुके हैं……

Europe Ka Aadhunik Itihas Part-2 PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Svatantra bharat ke shasan-vidhan mein yah bat svikrt kar li gai hai, ki hindi bharat ki rashtrabhasha hai, aur adhik se adhik pandrah salon mein bharat ki sangh sarakar apane prayah sabhi kary hindi ein karane lagegi. Baratiy Sangh ke antargat anek rajy hindi ko apani rajabhasha svikar kar chuke hain…………..
Short Description of Europe Ka Aadhunik Itihas Part-2 PDF Book : It has been accepted in the rule of independent India that Hindi is the national language of India, and in more than fifteen years the Union Government of India will start functioning mostly in Hindi. Many states have accepted Hindi as their official language under the Indian Union……………
“जन्म देने वाले माता पिता से अध्यापक कहीं अधिक सम्मान के पात्र हैं, क्योंकि माता पिता तो केवल जन्म देते हैं, लेकिन अध्यापक उन्हें शिक्षित बनाते हैं, माता पिता तो केवल जीवन प्रदान करते हैं, जबकि अध्यापक उनके लिए बेहतर जीवन को सुनिश्चित करते हैं।” ‐ अरस्तू
“Teachers, who educate children, deserve more honour than parents, who merely gave them birth; for the latter provided mere life, while the former ensure a good life.” ‐ Aristotle

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment