सभी मित्र, हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे और नाम जप की शक्ति को अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये
वीडियो देखें

हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

हे बच्चो ! तुम्हें प्रणाम / He Bachcho ! Tumhen Pranam

हे बच्चो ! तुम्हें प्रणाम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - प्रेरक | He Bachcho ! Tumhen Pranam : Hindi PDF Book - Motivational (Prerak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name हे बच्चो ! तुम्हें प्रणाम / He Bachcho ! Tumhen Pranam
Author
Category, , , , , ,
Language
Pages 96
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

सभी मित्र हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे, ज्यादा से ज्यादा ग्रुप में शेयर करें| भगवान नाम जप की शक्ति को पहचान कर उसे अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये|

पुस्तक का विवरण : सहसा एक बड़े जोर का शब्द हुआ। शब्द के साथ ही साथ स्वयं भगवान्‌ शंकर मूर्ति के भीतर से प्रकट हो उठे । उन्होंने काल पर प्रहार किया। काल भाग खड़ा हुआ बालक मार्कण्डेय भगवान्‌ शंकर के चरणों पर गिर पड़ा । भगवान शंकर ने बालक मार्कण्डेय को अमर होने का आशीर्वाद दिया……

Pustak Ka Vivaran : Sahasa ek Bade jor ka shabd huya. Shabd ke sath hee sath svayan bhagavan‌ shankar moorti ke bheetar se prakat ho uthe . Unhonne kal par prahar kiya. kal bhag khada huya Balak Markandey bhagavan‌ shankar ke charanon par gir pada . bhagavan shankar ne balak markanndey ko Amar hone ka Aasheervad diya……….

Description about eBook : Suddenly there was a loud word. Along with the word, Lord Shankar himself appeared from within the idol. He attacked Kaal. Kaal ran away and the boy fell on the feet of Markandeya Lord Shankar. Lord Shankar blessed the child Markandeya to be immortal …….

“मकसद की निश्चितता सभी उपलब्धियों का प्रारंभिक बिंदु है।” डब्लू क्लिमेंट स्टोन
“Definiteness of purpose is the starting point of all achievement.” W Clement Stone

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment