जागीरदार : डॉ० नारायण विष्णु जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – नाटक | Jagirdar : by Dr. Narayan Vishnu Joshi Hindi PDF Book – Drama (Natak)

जागीरदार : डॉ० नारायण विष्णु जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - नाटक | Jagirdar : by Dr. Narayan Vishnu Joshi Hindi PDF Book - Drama (Natak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जागीरदार / Jagirdar
Author
Category, , , ,
Language
Pages 108
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

जागीरदार का संछिप्त विवरण : कामदार गर्दन हिलाता हुआ समुन्दर सिंह का अनुसरण करता है। महाराज सिर खुजलाता हुआ दरवाजे तक जाता है। उसकी बात-चीत को सुनने का प्रयत्न करता है। इतने में ग्रामोफोन पर नजर पड़ने के कारण उसके पास जाता है। इतने में भेरू बुलाई रोती सूरत लेकर स्टेज के एक किनारे आकर खड़ा होता है। उसको देखकर महाराज उसे…

Jagirdar PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kamdar Gardan hilata huya samundar sinh ka anusaran karata hai. Maharaj sir khujalata huya darvaje tak jata hai. Usaki bat-cheet ko sunane ka prayatn karata hai. Itane mein Gramophon par najar padane ke karan usake pas jata hai. Itane mein bheroo bulayi Roti soorat lekar stej ke ek kinare Aakar khada hota hai. Usako dekhakar Maharaj use…….
Short Description of Jagirdar PDF Book : Kamdar follows Samundar Singh shaking his neck. Maharaj heads to the door with a scratchy head. Tries to listen to his conversation. In due course, eyeing the gramophone goes to him. In such a situation, Bheru called crying and stood on one side of the stage. Seeing him, the chef…….
“दीर्घायु होना नहीं बल्कि जीवन की गुणवत्ता का महत्त्व होता है।” मार्टिन लूथर किंग, जूनियर
“The quality, not the longevity of one’s life is what is important.” Martin Luther King, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment