रीढ़ की हड्डी : विष्णु प्रभाकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – नाटक | Reedh Ki Haddi : by Vishnu Prabhakar Hindi PDF Book – Drama (Natak)

रीढ़ की हड्डी : विष्णु प्रभाकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - नाटक | Reedh Ki Haddi : by Vishnu Prabhakar Hindi PDF Book - Drama (Natak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name रीढ़ की हड्डी / Reedh Ki Haddi
Author
Category, , , ,
Language
Pages 158
Quality Good
Size 3 MB
Download Status Available

रीढ़ की हड्डी का संछिप्त विवरण : आप सर्वप्रथम कवि है। इसलिए आपके नाटकों में कवित्व की प्रधानता है। आप सौन्दर्य के शिल्पी और मनोभावों के सूचम विश्लेषणकर्ता हैं | ऐतिहासिक और सामाजिक दोनों प्रकार के नाटक लिखते हैं। सामाजिक नाटको में हास्य की हल्की-हल्की छाया बराबर रहती है। भाषा सरल, भाव प्रधान और मंजी हुईं है । सम्वाद चुस्त है…..

Reedh Ki Haddi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aap sarvapratham kavi hai. Isaliye aapake Natakon mein kavitv ki pradhanata hai. Aap saundary ke shilpi aur manobhavon ke soocham vishleshanakarta hain . Etihasik aur samajik donon prakar ke natak likhate hain. Samajik natako mein hasy ki halki-halki chhaya barabar rahati hai. Bhasha saral, bhav pradhan aur manji huyin hai . Samvad chust hai…….
Short Description of Reedh Ki Haddi PDF Book : You are the first poet. Therefore poetry has a predominance in your plays. You are an informant analyzer of aesthetic artistry and emotions. Writes both historical and social plays. In social dramas, a slight shadow of humor remains equal. The language is simple, emotion-oriented and simple. The communication is fine …….
“एक बुद्धिमान व्यक्ति के प्रश्न में भी आधा उत्तर छिपा रहता है।” ‐ सोलोमन इब्न गैबिरोल
“A wise man’s question contains half the answer.” ‐ Solomon Ibn Gabirol

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment