झाला राजवंश : डॉ. देवीलाल पालीवाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Jhala Rajvansh : by Dr. Devilal Paliwal Hindi PDF Book – History (Itihas)

Book Nameझाला राजवंश / Jhala Rajvansh
Author
Category, ,
Language
Pages 316
Quality Good
Size 13.3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मेवाड़ राज्य में सामंतवर्ग सदैव शक्तिशाली और प्रभावशाली रहा | मेवाड़ के शासक महाराणा अपने सामंतों का बड़ा सम्मान करते थे। महाराणा की शक्ति और शासन का आधार सामंतवर्ग ही होता था, अतएव बुद्धिमान और चतुर शासक अपने जागीरदारों को शत्रु से होने वाली लड़ाईयों में अथवा नवीन इलाकों को हस्तगत करने में अपनी वीरता और साहस दिखाने………..

Pustak Ka Vivaran : Mevad Rajy mein Samantvarg Sadaiv Shaktishali aur Prabhavashali raha . Mevad ke shasak Maharana Apane Samanton ka bada Samman karate the. Maharana ki Shakti aur shasan ka Aadhar Samantavarg hee hota tha, Atev Buddhiman aur chatur shasak Apane Jageeradaron ko shatru se hone vali Ladaiyon mein athava naveen ilakon ko hastagat karane mein apani veerata aur sahas dikhane……….

Description about eBook : The feudal class was always powerful and influential in the state of Mewar. Maharana, the ruler of Mewar, respected his feudal lords. The power and rule of Maharana was the basis of the feudal class, so wise and clever rulers show their valor and courage to their jagirdars in enemy battles or to take over new territories……..

“एक सफल व्यक्ति और असफल व्यक्ति में साहस का या फिर ज्ञान का अंतर नहीं होता है बल्कि यदि अंतर होता है तो वह इच्छाशक्ति का होता है।” – विसेंट जे. लोम्बार्डी
“The difference between a successful person and others is not a lack of strength, not a lack of knowledge, but rather in a lack of will.” – Vincent J. Lombardi

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment