मेरी खाल की हाय : आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Meri Khal Ki Hay : by Acharya Chatursen Shastri Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

मेरी खाल की हाय : आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Meri Khal Ki Hay : by Acharya Chatursen Shastri Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मेरी खाल की हाय / Meri Khal Ki Hay
Author
Category, , ,
Language
Pages 190
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

मेरी खाल की हाय पुस्तक का कुछ अंश : सुना है मेरी खाल से लोहा भी भस्म हो जाता है, हमारी मर्दानगी भी लोहा खागई है यदि यह साहित्यिक मेरी खाल की हाय उसे भस्म कर सके, हमारी सामूहिक मर्दानगी को जगा सके तो हमारे अहो भाग्य | आज भारत के दिन है, और यह उद्बार उसकी सामूहिक कठिनाइयों की सांस है, इन्हें पढ़ कर मेरे देश के युवकों की पलके यदि आद्र हो सके…….

Meri Khal Ki Hay PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Suna hai meri khal se loha bhi bhasm ho jata hai, hamari mardangi bhi loha khagi hai yadi yah sahityik meri khal ki hay use bhasm kar sake, hamari samuhik mardangi ko jaga sake to hamare aho bhagy. Aaj bharat ke din hai, aur yah udgar uski samuhik kathinaiyon ki sans hai, inhen padh kar mere desh ke yuvakon ki palke yadi aadr ho sake…………
Short Passage of Meri Khal Ki Hay Hindi PDF Book : I have heard that iron is also consumed by my skin, our masculinity has also been ironed. If this literary lover of my skins could consume it, if our collective mood could wake up, then our fate. Today is the day of India, and this exclamation is the breath of its collective difficulties, reading them can make the youths of my country feel wet……………
“जब तक आप न चाहें तब तक आपको कोई भी ईर्ष्यालु, क्रोधी, प्रतिशोधी, या लालची नहीं बना सकता है।” नेपोलियन हिल
“No one can make you jealous, angry, vengeful, or greedy–unless you let him.” Napoleon Hill

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment