समस्त जिन शासन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Samast Jin Shasan : Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

समस्त जिन शासन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Samast Jin Shasan : Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name समस्त जिन शासन / Samast Jin Shasan
Author
Category, , ,
Language
Pages 186
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

समस्त जिन शासन का संछिप्त विवरण : वर्तमान जैन समाज में अनेक प्रकार के विषर्यासजन्य दूषण पल्ल्वित हो रहे है, जितका उल्लेख ऊपर में कर ही चुके हैं। जितक लेकर यत्र-तंत्र अनिष्ट घटताएं प्राय निरन्तर सुनते, पढ़ते या दिखने में आती हैं। परन्तु इनके मूल का अन्वेषण करते पर यही तथ्य उभरता है कि अधिकांश लोगो में जिन शासन के समीचील स्वरूप की ही अनभिग्यता वर्त रही है……

Samast Jin Shasan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Vartaman jain samaj mein anek prakar ke visharyasajany dooshan pallvit ho rahe hai, jinaka ullekh oopar mein kar hi chuke hain. Jinak lekar yatra-tantra anisht ghatanayen pray nirantar sunane, padhane ya dikhane mein aati hain. Parantu inake mool ka anveshan karane par yahi tathy ubharata hai ki adhikansh logo mein jin shasan ke sameecheen svaroop ki hi Anabhigyata vart Rahi hai……..
Short Description of Samast Jin Shasan PDF Book : In the present Jain society, many types of toxic corruption are flourishing, which have already been mentioned above. The negative events with which the Yatra-Tantra are often heard, read or seen. But upon examining its origin, the same fact emerges that in most of the people whose rule of governance is inaccessible………….
“वह व्यक्ति बुद्धिमान है जो उन वस्तुओं के लिए दुःख नहीं मनाता जो उसके पास नहीं हैं, लेकिन उनके लिए आनन्द मनाता है जो उसके पास हैं।” ‐ एपिक्टेट्स
“He is a wise man who does not grieve for the things which he has not, but rejoices for those which he has.” ‐ Epictetus

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment