शुभंकरी : महोपाध्याय माणकचन्द रामपुरिया द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – काव्य | Shubhankari : by Mahopadhyay Manak Chand Rampuriya Hindi PDF Book – Poetry (Kavya)

शुभंकरी : महोपाध्याय माणकचन्द रामपुरिया द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - काव्य | Shubhankari : by Mahopadhyay Manak Chand Rampuriya Hindi PDF Book - Poetry (Kavya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name शुभंकरी / Shubhankari
Author
Category, , ,
Language
Pages 162
Quality Good
Size 951 KB
Download Status Available

शुभंकरी पुस्तक का कुछ अंश : पुत्र कुपुत्र हो जाता है, किन्तु माता कभी कुमाता नहीं हो सकती। पुत्र के हर अपराध को माता क्षमा कर देती है। वह सदा वात्सल्य-सुधा-धारा से अपनी सन्तान के सर्वविधि उत्कर्ष और महिमा-मंडन हेतु उसे अभिषिकत और सम्पुष्ट करती ही रहती है। ऐसी जगत-जननी माता की उपसना से समस्त विपदाओं का नाश, समस्त विज्वों की निवृत्ति और सम्पूर्ण……….

Shubhankari PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Putra Kuputra ho jata hai, kintu Mata kabhi Kumata nahin ho sakati. Putra ke har Aparadh ko Mata Kshama kar Deti hai. Vah Sada Vatsaly-Sudha-Dhara se Apani Santan ke Sarvavidhi Utkarsh aur Mahima-Mandan hetu use Abhishikat aur Sampusht karati hi Rahati hai. Aise Jagat-janani Mata kee upasana se samast vipadaon ka Nash, Samast vighnon kee Nivrtti aur sampoorn………..
Short Passage of Shubhankari Hindi PDF Book : The son becomes a son, but the mother can never be a kumata. Mother forgives every crime of a son. She is always anointed and confirmed by the Vatsalya-Sudha-Dhara for the universal flourishing and glorification of her children. The destruction of all disasters, retirement of all obstacles and complete ………..
“खेलों के बारे में अकसर ऐसे कहा जाता है मानो यह गंभीर शिक्षा से राहत हो। लेकिन बच्चों के लिए खेल गंभीर शिक्षा ही है। खेल ही वास्तव में बचपन का काम है।” ‐ फ्रेड रोजर्स
“Play is often talked about as if it were a relief from serious learning. But for children play is serious learning. Play is really the work of childhood.” ‐ Fred Rogers

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment