विजयनगर साम्राज्य का इतिहास : डा० रामप्रसाद त्रिपाठी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Vijaynagar Samrajya Ka Itihas : by Dr. Ramprasad Tripathi Hindi PDF Book – History (Itihas)

विजयनगर साम्राज्य का इतिहास : डा० रामप्रसाद त्रिपाठी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - इतिहास | Vijaynagar Samrajya Ka Itihas : by Dr. Ramprasad Tripathi Hindi PDF Book - History (Itihas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name विजयनगर साम्राज्य का इतिहास / Vijaynagar Samrajya Ka Itihas
Author
Category,
Language
Pages 318
Quality Good
Size 11 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : किसी देश की संस्कृति उस देश के इतिहास में सन्निहित रहती है | अतएव उस देश की सभ्यता तथा संस्कृति का अनुशीलन करने के लिए हमें उसका इतिहास जानना आवश्यक है | जब तक रोम और ग्रीस के पुरातन इतिहास का अध्ययन न किया जाय तब तक उसकी महत्वता का परिचय प्राप्त करना अत्यन्त कठिन………….

Pustak Ka Vivaran : Kisi desh kee sanskrti us desh ke itihas mein sannihit rahti hai. Atev us desh ki sabhyata tatha sanskrti ka anushilan karne ke lie hamen uska itihas janna aavashyak hai. Jab tak rom aur gris ke puratan itihas ka adhyayan na kiya jaay tab tak uski mahatvata ka parichay prapt karna atyant kathin hai…………

Description about eBook : Culture of a country remains embedded in the history of that country. Therefore, in order to follow the civilization and culture of that country, it is necessary to know its history. Unless the ancient history of Rome and Greece is studied, it is extremely difficult to get the recognition of its importance……………

“अपने जीवन के परिष्कार और सुधार में अपने आप को इतना व्यस्त रखें कि आपके पास दूसरों की आलोचना करने का वक्त ही न हो।” ‐ एच जैक्सन ब्राउन, जूनियर
“Let the refining and improving of your own life keep you so busy that you have little time to criticize others.” ‐ H Jackson Brown, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment