आप में चाणक्य : राधाकृष्णन पिल्लई द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – प्रेरक | Aap Mein Chanakya : by Radhakrishnan Pillai Hindi PDF Book – Motivational (Prerak)

आप में चाणक्य: राधाकृष्णन पिल्लई द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - प्रेरक | Aap Mein Chanakya : by Radhakrishnan Pillai Hindi PDF Book - Motivational (Prerak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name आप में चाणक्य / Aap Mein Chanakya
Author
Category,
Language
Pages 192
Quality Good
Size 2.3 MB
Download Status Available

आप में चाणक्य पुस्तक का कुछ अंश : मुझे और मेरे चचेश भाई–बडनों को उनकी किताबों में कोई खास दिलचस्पी नहीं रहती थी, मगर उनका हम सब पर बड़त अधिक प्रभाव था और उनका पुस्तकालय तो अद्भुत था। यहाँ पर उनकी अपनी दुनिया थी। किताबें बढुत डी सलीके से रखी गई थीं। वे विषय के मुताबिक सजाकर रखी गई थीं। उन पर जिल्द लगी डोतीं थीं और उन पर लेबल लगा रहता था। उन्होंने हमें एक रजिस्टर भी दिखाया जिसमें विभिन्‍न प्रकार की पुस्तकों की सूची थी — विज्ञान से विश्व साहित्य तक तथा कविता से पेंटिंग तक उनकी अभिरूचि का फलक बड़ुत बड़ा था। मुझे उनके…………

Aap Mein Chanakya PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Mujhe aur mere chachesh bhai–badanon ko unki kitabon mein koi khas dilchaspi nahin rahti thi, magar unka ham sab par badat adhik prabhav tha aur unka pustakalay to adbhut tha. Yahan par unki apni duniya thee. Kitaben badhut dee saleeke se rakhi gayi theen. ve vishay ke mutabik sajakar rakhi gayi theen. Un par jild lagi doteen theen aur un par lebal laga rahata tha. Unhonne hamen ek rajistar bhi dikhaaya jisamen vibhin‍na prakar ki pustakon ki soochi thi — vigyan se vishv sahity tak tatha kavita se penting tak unki abhiroochi ka phalak badut bada tha. Mujhe unke…………
Short Passage of Aap Mein Chanakya Hindi PDF Book : Me and my cousins were not particularly interested in his books, but he had a great influence on all of us and his library was amazing. He had his own world here. The books were kept very neatly. They were decorated according to the theme. They were bound and had labels on them. He also showed us a register which listed a variety of books — from science to world literature and from poetry to painting, his range of interests was vast. I love their…………
“अपनी सफलता अथवा असफलता की संभावनाओं का आकलन करने में अपना समय नष्ट न करें। केवल अपना लक्ष्य निर्धारित करें और कार्य आरम्भ करें।” ‐ गुआन यिन त्ज़ू
“Don’t waste time calculating your chances of success and failure. Just fix your aim and begin.” ‐ Guan Yin Tzu

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment