अन्य होते हुए : नन्दकिशोर आचार्य द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – काव्य | Anya Hote Huye : by Nandkishore Acharya Hindi PDF Book – Poetry (Kavya)

Book Nameअन्य होते हुए / Anya Hote Huye
Author
Category, , , , , ,
Language
Pages 94
Quality Good
Size 437 KB
Download Status Available

अन्य होते हुए पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : क्या यह सम्भव है लौटना चाहूँ मैं यदि अब दरख़्त में? उस के लिए पर होना पड़ेगा कलम
मुझको – लेकिन कलम होना भी दरख़्त में लौटना कब है ? वह तो अपने में से दरख़त को लौटा देना है!
इसलिए, हे ईश्वर, तुम्हें गर अपने में से लौठा भी दूँ मैं मरँ5गा नहीं। मरना तभी होगा जब दरुख़्त में लौट पाऊँ-
और वह सम्भव नहीं है…

Anya Hote Huye PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kya yah Sambhav hai lautana chahoon main yadi ab darakht mein? Us ke liye par hona padega kalam mujhako – Lekin kalam hona bhi darakht mein lautana kab hai ? Vah to apane mein se darakhat ko lauta dena hai! Isaliye, he Ishvar, tumhen gar apane mein se lautha bhi doon main Marunga nahin. Marana tabhi hoga jab darukht mein laut paun- aur vah sambhav nahin hai…….

 

Short Description of Anya Hote Huye Hindi PDF Book : Is it possible to return if I am now in court? I will have to have a pen for that – but when is a pen also to return to the court? He has to return the procession from among himself! Therefore, O God, even if I bring you back from my own place, I will not die. Dying will only happen when I return to the world – and that is not possible….

 

“सत्य से प्यार करें और गलती को क्षमा कर दें।” – वोल्टेयर
“Love truth, and pardon error.” – Voltaire

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment