भारतीय पुरैतिहासिक परातत्त्व : धर्मपाल अग्रवाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Bharatiya Puraitihasik Puratattva : by Dharmpal Pannalal Hindi PDF Book – History (Itihas)

Book Nameभारतीय पुरैतिहासिक परातत्त्व / Bharatiya Puraitihasik Puratattva
Author
Category, ,
Language
Pages 224
Quality Good
Size 7 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : प्रामाणिक अन्य निर्माण की योजना के अन्तर्गत यह अकादमी विश्वविद्यालय स्तरीय विदेशी भाषाओं की पाठय पुस्तको को हिन्दी मे अनूदित करा रही है ओर अनेक विषयो में मौलिक पुस्तकों की भी रचना करा रही है। प्रकाश्य ग्रंथों मे भारत सरकार द्वारा स्वीकृत पारिभाषिक शब्दावली का प्रयोग किया जा रहा है। उपर्युक्त योजना के…..

Pustak Ka Vivaran : Pramanik any Nirman ki yojana ke antargat yah Akadami vishvavidyalay Stariy videshi bhashaoon ki pathay pustako ko hindi me Anoodit kara rahi hai or anek vishayo mein maulik pustakon kee bhee rachana kara rahi hai. Prakashy granthon me bharat sarakar dvara sveekrt paribhashik shabdavali ka prayog kiya ja raha hai. uparyukt yojana ke………

Description about eBook : Under the scheme of authentic other construction, this academy is translating the textbooks of foreign languages ​​in university level in Hindi and is also producing original books in many subjects. The terminology accepted by the Government of India is being used in Prakasya texts of the above scheme………

“प्रतिभा का विकास शांत वातावरण में होता है, और चरित्र का विकास मानव जीवन के तेज प्रवाह में।” – जोहेन वोल्फगैंग वॉन गोएथ, कवि, नाटककार, उपन्यासकार और दार्शनिक (1749-1832)
“Talent develops in tranquillity, character in the full current of human life.” – Johann Wolfgang von Goethe, poet, dramatist, novelist, and philosopher (1749-1832)

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment