भीखा साहब की बानी और जीवन चरित्र : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – जीवनी | Bhikha Sahab Ki Bani Or Jivan Charitra : Hindi PDF Book – Biography (Jeevani)

Book Nameभीखा साहब की बानी और जीवन चरित्र  / Bhikha Sahab Ki Bani Or Jivan Charitra
Category,
Language
Pages 84
Quality Good
Size 29.9 MB
Download Status Available

भीखा साहब की बानी और जीवन चरित्र पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : भीखा साहब जिनका घरऊ नाम भिखानंद था जाति के ब्राह्मण चौबे थे | जिला आजमगढ़ के खानपुर बोहना नाम के गाँव में उन्होंने जन्म लिया जिसे दो सो बरस के करीब हुए | बाल अवस्था ही से उनको परमार्थ और साथ संग का इतना उत्साह था की बारह बरस की उम्र में घर बार त्याग कर पुरे गुरु और सच्चे मत की खोज में काशी को गए………

Bhikha Sahab Ki Bani Or Jivan Charitra PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bhikha sahab jinka gharu naam bhikhanand tha jati ke brahman chaube the. Jila Aajamgadh ke Khanpur Bohana naam ke ganv mein unhonne janm liya jise do so baras ke karib hue. Baal avastha hi se unko paramarth aur sadh sang ka itna utsah tha ki barah baras ki umr mein ghar baar tyag kar pure guru aur sachche mat ki khoj mein kashi ko gae…………

Short Description of Bhikha Sahab Ki Bani Or Jivan Charitra Hindi PDF Book : Bhukha Sahab whose house name was Bhikhanand was Brahmin Chaubey of the caste. He was born in the village of Khanpur Bohna in Azamgarh district, which was close to two hundred years. From childhood he had so much enthusiasm for the devotees and devotees that at the age of twelve years the house was abandoned and went to Kashi in search of the whole master and true vote……………

 

“हर बार जब मैं वास्तविकता से मुंह मोड़ता हूं, तो यह दूसरा रूप लेकर मेरे सामने आ जाती है।” ‐ जेनिफर जूनियर
“Every time I close the door on reality, it comes in through the windows.” ‐ Jennifer Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment