ग्यारह सपनों का देश : धर्मवीर भारती द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Gyarah Sapanon Ka Desh : by Dharamveer Bharti Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameग्यारह सपनों का देश / Gyarah Sapanon Ka Desh
Author, , , ,
Category, , ,
Language
Pages 298
Quality Good
Size 8.4 MB

पुस्तक का बिवरण : वही पतली-दुबली पहाड़ी नदी है जो दो मील पहले रास्ते में मिली थी | मुश्किल दस गज चौड़ी, झाड़झाखड़, लतरों और पत्थरों ढकी हुई | पर यहां आकर जो रूप उसने तो कल्पना ही नहीं होती थी | दो फर्लांग ऊपर उसने धारण किया है, उसकी तो कल्पना ही नहीं होती थी……..

Pustak Ka Vivaran : Vahi patali-dubali pahadi nadi hai jo do meel pahale Raste mein mili thi . Mushkil das gaj chaudi, jhad-jhakhad, lataron aur pattharon dhaki huyi. Par yahan aakar jo roop usane to kalpana hi nahin hoti thee. Do pharlang Upar usane dharan kiya hai, usaki to kalpana hi nahin hoti thi………….

Description about eBook : The same thin-low mountain river which was found on the way two miles ago. Hard ten gauge wide, chandeliers, sticks and stones covered. But he did not imagine the form coming here. He has held up two furlongs, he was not imagined……………

“ऐसा व्यक्ति जो एक घंटे का समय बरबाद करता है, उसने जीवन के मूल्य को समझा ही नहीं है।” -चार्ल्स डारविन
“A man who dares to waste one hour of time has not discovered the value of life.” Charles Darwin – Charles Darwin

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment