हमारी बा : वनमाला परीख द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – जीवनी | Hamari Ba : by Vanmala Parikh Hindi PDF Book – Biography (Jeevani)

हमारी बा : वनमाला परीख द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - जीवनी | Hamari Ba : by Vanmala Parikh Hindi PDF Book - Biography (Jeevani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name हमारी बा / Hamari Ba
Author
Category, , , ,
Language
Pages 246
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : आज हमको जिस तरह के बाल-विवाह की बात विचित्र और विनोदपूर्ण मालूम होती है। बापूजी ने भी आत्मकथा में उसका रोचक चित्र खींचा है। वे लिखते है “मुझे याद नहीं पड़ता कि सगाई के समय मुझसे कुछ कहा गया था। इसी तरह व्याह के वक्‍त भी कुछ पूछा नहीं गया। सिर्फ तैयारियों ही पता चला कि व्याह होने वाले है। उस समय तो अच्छे-अच्छे कपडे…..

Pustak Ka Vivaran : Aaj Hamako jis Tarah ke bal-vivah ki bat vichitra aur Vinodpoorn Maloom hoti hai. Bapu ji ne bhi Aatmkatha mein usaka Rochak chitra kheencha hai. Ve likhate hai mujhe yad nahin padata ki sagai ke samay mujhase kuchh kaha gaya tha. Isi tarah vyah ke vakt bhi kuchh Poochha nahin gaya. Sirph Taiyariyon hi pata chala ki vyah hone vale hai. Us Samay to Achchhe-Achchhe kapade……..

Description about eBook : The kind of child marriage we know today is bizarre and humorous. Bapuji has also drawn interesting pictures in his autobiography. He writes, “I don’t remember when I was told anything at the time of engagement.” Similarly, nothing was asked during marriage. Only the preparations revealed that marriage was about to happen. At that time good clothes…….

“किसी पुरुष या महिला के पालन-पोषण की आज़माइश तो एक झगड़े में उनके बर्ताव से होती है। जब सब ठीक चल रहा हो तब अच्छा बर्ताव तो कोई भी कर सकता है।” जॉर्ज बर्नार्ड शॉ
“The test of a man’s or woman’s breeding is how they behave in a quarrel. Anybody can behave well when things are going smoothly.” George Bernard Shaw

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment