कथा एक प्रान्तर की : एस० के० पोट्टेक्काट द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Katha Ek Prantar Ki : by S. K. Pottekkatt Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

कथा एक प्रान्तर की : एस० के० पोट्टेक्काट द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Katha Ek Prantar Ki : by S. K. Pottekkatt Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name कथा एक प्रान्तर की / Katha Ek Prantar Ki
Author
Category, , ,
Language
Pages 525
Quality Good
Size 20 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मेरी पहली पत्नी की मृत्यु के बाद दूसरी शादी की बात तय करके पिछले साल आपने ही मंगनी की रस्म पूरी की थी। लेकिन उस औरत को ब्याह कर घर लाने के लिए घराने के मुखिया होने के नाते आपने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की। अपनी बूढी माँ और छोटे बच्चों की परवरिश का भार मेरी नाक में दम कर रहा है। विवाह के लिए कम-से-कम……….

Pustak Ka Vivaran : Meri Pahali Patni kee Mrtyu ke Bad Doosarei Shadi kee bat tay karake pichhale sal Aapane hee Mangani kee Rasm Poori kee thee. Lekin us Aurat ko byah kar ghar laane ke liye Gharane ke Mukhiya hone ke nate aapane abhee tak koi karyavahei nahin kee. Apani Boodhi man aur chhote bachchon kee paravarish ka bhar meri Nak mein dam kar raha hai. Vivah ke liye kam-se-kam………..

Description about eBook : After completing the first marriage after the death of my first wife, you completed the ritual of matchmaking last year. But you have not taken any action as the head of the house to get the woman married. The burden of raising my old mother and young children is plaguing me. At least for marriage ………..

“सफल होने के लिए असफलता आवश्यक है, ताकि आपको यह पता चल सके कि अगली बार क्या नहीं करना है।” एंथनी जे. डिएन्जेलो
“In order to succeed you must fail, so that you know what not to do the next time.” Anthony J. D’Angelo

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment