खून की होली : सुधीन्द्र | Khoon Ki Holi : by Sudhindra Hindi PDF Book

Book Nameखून की होली / Khoon Ki Holi
Author
Category, , ,
Language
Pages 106
Quality Good
Size 1.8 MB
Download Status Available

खून की होली का संछिप्त विवरण : हमारे देश के इतिहास में मौर्य कालका वृत्तांत स्वर्णाक्षरों में लिखे जाने योग्य है | उसी काल में प्रथम बार बंगाली खाड़ीस अरब के समुन्द्र तक फैला हुआ हमारा देश एकंच्च राज्यके अंतर्गत हुआ | इतिहास के पड़ने वालों को इस कालका वृत्तांत अति रुचिकर है | क्योकि हमारे देशके इतिहास के न होने पर बी ही मौर्यवंश्के राजल्कल्का इतिहास प्रमाणिक रूपसे पाया जाता है……

Khoon Ki Holi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : ye sab naatak vidyaapeeth mein vividh utsavon aur samaarohon par likhe gae the, aur likhe gae the khele jaane ke lie. abhineet ho chukane ke kaaran ye abhinay kee kasautee par saphal kahe ja sakate hain| naatak ek drashy kaavy- roop se pahale abhinay hai, pathaneey, shravy peechhe………….
Short Description of Khoon Ki Holi PDF Book : These were written on various festivals and celebrations at the Natak Vidyapeeth, and were written for play. Due to being starring, they can be called successful on the verdict of acting. Drama is a drama poetic form before acting, readable, audio behind…………..
“केवल जानना पर्याप्त नहीं है, हमें अवश्य ही प्रयोग भी करना चाहिए। केवल इच्छा करना पर्याप्त नहीं है, बल्कि हमें कार्य करना भी चाहिए।” गोएथ
“Knowing is not enough; we must apply. Willing is not enough; we must do.” Goethe

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment