लक्ष्मी : हरिगोविन्द गुप्त द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Laxmi : by Harigovind Gupta Hindi PDF Book

लक्ष्मी : हरिगोविन्द गुप्त द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Laxmi : by Harigovind Gupta Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name लक्ष्मी / Laxmi
Author
Category, ,
Language
Pages 126
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

लक्ष्मी का संछिप्त विवरण : एक परिवार के माध्यम से मानव संस्कृति और लोक परम्परा की कुछ पुरानी, बीतती बिसरती बातें यह इस में सुग्रहित है | कुछ लौकिक है, कुछ पौराणिक है | कैसी है वे, कहने सुनने का आधिकार मुक्त तो है ही नहीं, पर आपको भी न हो इसलिए की न जाने कब की किस युग से बुसी बसी हुए बिना वे पुलक और प्रेराम्यी बनी चल रही……..

Laxmi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Ek parivaar ke maadhyam se maanav sanskrti aur lok parampara kee kuchh puraanee, beetatee bisaratee baaten yah is mein sugrahit hai. Kuchh laukik hai, kuchh pauraanik hai. Kaisee hai ve, kahane sunane ka aadhikaar mukt to hai hee nahin, par aapako bhee na ho isalie kee na jaane kab kee kis yug se busee basee hue bina ve pulak aur preraamyee banee chal rahee hai………….
Short Description of Laxmi PDF Book : Through a family, some old, eloquent silent stories of human culture and folk traditions are encompassed in this. Some are temporal, some are legendary. He is not free to say what is the right to hear, but not to you, so why not know when the era of a bus is settled, without the help of the buoys and the parmas are going on…………..
“कड़ी मेहनत के बिना तो केवल खर पतवार की ही उपज पैदा होती है।” ‐ गोर्डन हिन्क्ले
“Without hard work, nothing grows but weeds.” ‐ Gordon Hinckley

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment