नवीन मनोविज्ञान : मधुकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – मनोविज्ञान | Navin Manovigyan : by Madhukar Hindi PDF Book – Psychology (Manovigyan)

Book Nameनवीन मनोविज्ञान / Navin Manovigyan
Author
Category, , ,
Language
Pages 230
Quality Good
Size 21 MB
Download Status Available

नवीन मनोविज्ञान पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : प्राणी के हर व्यवहार के पीछे किसी न किसी परिविश की शक्ति रहती है जो उस पर
दबाव डालकर उसे कुछ न कुछ करने को लाचार करती रहती है | प्राणी और परिवेश के सम्बन्ध के दो पहलू
हैं। एक ओर तो परिवेश प्राणी पर दबाव डालता है और दूसरी ओर प्राणी अपने प्रयत्रों द्वारा. परिवेश के उस
दबाव का सामना करता है। परिवेश के दबाव को…

Navin Manovigyan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Prani ke har vyavhar ke peechhe kisi na kisi parivish ki shakti rahati hai jo us par dabav dalkar use kuchh na kuchh karane ko lachar karati rahati hai. Prani aur parivesh ke sambandh ke do pahaloo hain. Ek or to parivesh prani par dabav dalata hai aur doosari or prani apane prayatnon dvara. Parivesh ke us dabav ka samana karata hai. parivesh ke dabav ko…………

Short Description of Navin Manovigyan Hindi PDF Book  : Behind every behavior of a creature, there is a power of some kind of circumambulation which pressurizes it and forces it to do something. There are two aspects to the relationship of animal and environment. On the one hand, the environment puts pressure on the creature and on the other side the creature through its efforts. Withstands that pressure of ambient. Ambient pressure ………

 

“दीर्घायु होना नहीं बल्कि जीवन की गुणवत्ता का महत्त्व होता है।” ‐ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर
“The quality, not the longevity of one’s life is what is important.” ‐ Martin Luther King, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment