प्रस्तुत प्रश्न : जैनेन्द्र कुमार द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Prastut Prashna : by Jainendra Kumar Hindi PDF Book

Book Nameप्रस्तुत प्रश्न / Prastut Prashna
Author
Category, , ,
Pages 270
Quality Good
Size 16.0 MB
Download Status Available

प्रस्तुत प्रश्न पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : इन प्रश्नो के प्रश्न कर्ताओं मे मैं भी एक हूँ। इसी से मुझ पर उस बारे मे कुछ कहने का भार और दायित्व आता है। वह भार और अधिकार अपेक्षाकृत मुझपर अधिक है क्योकि एक तो इस पुस्तक का आरम्भ ही मुझसे हुआ है, दूसरे उसके अधिकांश मेरे ही किए हुए प्रश्न है। इसीलिए मुझे योग्य है की प्रश्नकर्ता के नाते मैं अपनी………..

Prastut Prashna PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : In prashno ke prashn karshan me main bhi ek hoon. Yahaan se kuchh mujh par kuchh kuchh kahane ka bhaar aur daayati aata hai. Vah bhaar aur adhikaar ke lie upayukt haipar adhik hai kyoki ek to yah kitaab ka raimbhik hota hai, doosara vah mere hee hee savaal poochhata hai. iseelie mujhe yogy hai ki prashnakarta ke sambandh main khud hi………….

Short Description of Prastut Prashna Hindi PDF Book : I am also one of the questions in question. Here comes some weight and obligation to say something to me. It is suitable for weight and authority but more is because one of the books is the epitome of the second, the other asks my own questions. That is why I have the right to relate the questioner to myself……………..

 

“क्रोध एक तेजाब है जो उस बर्तन का अधिक अनिष्ट कर सकता है जिसमें वह भरा होता है न कि उसका जिस पर वह डाला जाता है।” मार्क ट्वेन
“Anger is an acid that can do more harm to the vessel in which it is stored than to anything on which it is poured.” Mark Twain

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment