सामदेव-संहिता : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – वेद | Samdev – Sanhita : Hindi PDF Book – Ved

Book Nameसामदेव-संहिता / Samdev – Sanhita
Category, , ,
Language
Pages 328
Quality Good
Size 15.8 MB
Download Status Available

सामदेव-संहिता का संछिप्त विवरण : “वेदानां सम्वेदस्मि” कहकर गीता उपनिदेशक ने सामवेद की गरिमा को प्रकट किया है। साथ ही इस उक्ति के रहस्य की एक झलक पाने की ललक हर स्वाध्याय के मन में पैदा का दी है। योन तो वेद के सभी मन्त्र अनभ[तियों ज्ञान के उद्घोषक होने के कारण

Samdev – Sanhita PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Vedanan Samvedasmi kahakar geeta upanideshak ne samaved kee garima ko prakat kiya hai. Sath hee is ukti ke Rahasy kee ek jhalak pane kee lalak har svadhyay ke man mein paida ka dee hai. Yon to ved ke sabhee mantr anubhootiyon gyan ke udghoshak hone ke karan…………
Short Description of Samdev – Sanhita PDF Book : By saying “Vedanam samvedasmi”, the Gita Deputy Director has revealed the dignity of Samaveda. Also, the desire to get a glimpse of the mystery of this utterance has been born in the mind of every Swadhyaya. Because of being an announcer of all the mantra experiences of the Vedas,………..
“यदि आप किसी बाह्य कारण से परेशान हैं, दो परेशानी उस कारण से नहीं, अपितु आपके द्वारा उसका अनुमान लगाने से होती है, और आपके पास इसे किसी भी क्षण बदलने का सामर्थ्य है।” मैर्कस औयरिलियस
“If you are distressed by anything external, the pain is not due to the thing itself, but to your estimate of it; and this you have the power to revoke at any moment.” Marcus Aurelius

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment