संसार का सर्वश्रेष्ठ पुरुष : छविनाथ पाण्डेय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Sansar Ka Sarvshresth Purush : by Chhavinath Pandeya Hindi PDF Book

Book Nameसंसार का सर्वश्रेष्ठ पुरुष / Sansar Ka Sarvshresth Purush
Author
Category,
Language
Pages 154
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

संसार का सर्वश्रेष्ठ पुरुष का संछिप्त विवरण : महात्मा जी की सादगी और स्पष्टता दिलाने वर्तमान कालके राजनीतिज्ञों को चक्कर मे दाल रखा है उनका ख्याल है की महात्मा जी मे कोई आदिदैविक शक्ति है | न तो उन्हे किसी का भय और न वो किसी पर अपना दबदबा जमाना चाहते हैं | वे केवल उनही सामाजिक बंधनों को स्वीकार करते हैं जो समाज मे रहने के लिए नितांत आवश्यक है और जिसको ……..

 Sansar Ka Sarvshresth Purush PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Mahatma ji ki saadagi aur spashtta dilaane vartamaan kaalake raajaneetigyon ko chakkar me daal rakha hai unaka khyaal hai kee mahaatma jee me koee aadidaivik shakti hai. na to unhe kisee ka bhay aur na vo kisee par apana dabadaba jamaana chaahate hain. ve keval unahee saamaajik bandhanon ko sveekaar karate hain jo samaaj me rahane ke lie nitaant aavashyak hai aur jisako………….
Short Description of Sansar Ka Sarvshresth Purush PDF Book : Giving the simplicity and clarity of Mahatma ji, he has kept the pulse of the present day politicians and he thinks that there is no Adiwavavik power in Mahatma ji. Neither is he afraid of anyone, nor does he want to dominate his life. They accept only those social bonds which are absolutely necessary to live in society and to whom…………..
“महत्त्व इस बात का नहीं है कि आप कितने अच्छे हैं। महत्त्व इस बात का है कि आप कितना अच्छा बनना चाहते हैं।” ‐ पॉल आर्डेन
“It’s not how good you are. It’s how good you want to be.” ‐ Paul Arden

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment