सुत्तनिपात : डा० भिक्षु धर्मरक्षित द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Sutta Nipat : by Dr. Bhikshu Darmrakshit Hindi PDF Book – Granth

Book Nameसुत्तनिपात / Sutta Nipat
Author
Category,
Language
Pages 294
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

सुत्तनिपात का संछिप्त विवरण : भगवान बुद्ध ने बुद्धत्व-प्राप्ति (ई० पूर्व ५९९ ) से लेकर महापरिनिर्वाण-पर्यन्त (ईे पूर्व ५४३) तक जो कुछ उपदेश दिया, सब मौलिख ही | उन्होंने किसी ग्रन्थ का न तो प्रणयन किया और न ग्रन्थ रूप में किसी उपदेश विशेष को दिया | उन्होंने समय-समय पर जो कुछ उपदेश दिया, उसे उनके शिष्य कंठाग्र करते आये……

Sutta Nipat PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bhagwan buddh ne buddhatv-prapti (ee0 purv 599 ) se lekar mahaparinirvan-paryant (ee0 purv 543) tak jo kuchh upadesh diya, sab maulikh hi. Unhonne kisi granth ka na to pranayan kiya aur na granth rup mein kisi upadesh vishesh ko diya. Unhonne samay-samay par jo kuchh upadesh diya, use unke shishy kanthagr karte aaye…………
Short Description of Sutta Nipat PDF Book : From Buddha-Achievement (E.E. 5 99) to Mahaparinirvana-Vyanta (E.E. 543), Lord Buddha gave all the teachings, all the noble. He did not pray any scripture or gave any preaching in special form. His teachings from time to time he composed his disciples………………
“मकसद की निश्चितता सभी उपलब्धियों का प्रारंभिक बिंदु है।” डब्लू क्लिमेंट स्टोन
“Definiteness of purpose is the starting point of all achievement.” W Clement Stone

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment