उत्तरदायी कौन : युवाचार्य महाप्रज्ञ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Uttardayi Kaun : by Yuvacharya Mahapragya Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Book Nameउत्तरदायी कौन / Uttardayi Kaun
Author
Category, ,
Language
Pages 150
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यह उच्च अवस्था की बात हो सकती है। पर आज साधु बता या साधक बना और आज ही हम उस आदर्श की कल्पना करे तो उचित नहीं होगा। अभी पुरुषों में पुरुषत्व भी जाग्रत है और स्त्रियों में स्त्रीत्व भी जाग्रत है। स्थिति तो वैसी है। मंजिल दूर है। वहां पहुंचकर इस भेद को मिटाया जा सकता है। जब तक भीतर आन्तरिक वातावरण विद्यमान है, बाहरी…….

Pustak Ka Vivaran : Yah Uchch Avastha ki bat ho Sakati hai. Par Aaj sadhu bana ya sadhak bana aur Aaj hi ham us Aadarsh kee kalpana kare to uchit nahin hoga. Abhi Purushon mein Purushatv bhi jagrat hai aur striyon mein streetv bhee jagrat hai. Sthiti to Vaisi hai. Manjil door hai. Vahan Pahunchakar is bhed ko mitaya ja sakata hai. Jab tak bheetar Aantarik Vatavaran vidyaman hai, Bahari……

Description about eBook : It can be a matter of higher status. But today he became a sadhu or a seeker and today if we imagine that ideal then it will not be appropriate. Right now, masculinity is also awakened in men and femininity is also awakened in women. The situation is the same. The floor is far away. This distinction can be erased by reaching there. As long as the internal environment exists, the external …….

“अपनी सामर्थ्य का पूर्ण विकास न करना दुनिया में सबसे बड़ा अपराध है। जब आप अपनी पूर्ण क्षमता के साथ कार्य निष्पादन करते हैं, तब आप दूसरों की सहायता करते हैं।” रोजर विलियम्स
“The greatest crime in the world is not developing your potential. When you do your best, you are helping others.” Roger Williams

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment