आकाश दर्शन : गुणाकर मुले द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ज्योतिष | Aakash Darshan : by Gunkar Mule Hindi PDF Book – Astrology (Jyotish)

Book Nameआकाश दर्शन / Aakash Darshan
Author
Category, , , ,
Language
Pages 189
Quality Good
Size 12 MB
Download Status Available

आकाश दर्शन का संछिप्त विवरण : पुस्तक में तारा-मंडलों के जो स्थितिचित्र हैं उन्हें दिशा-निर्देश के अनुसार सिर के ऊपर धारण करके तारों को पहचानना चाहिए। और, वृषभ, कन्या, सिंह आदि के चित्रांकनों का उपयोग, दिशा-निर्देश के अनुसार, इस प्रकार किया जाना चाहिए मानो आकाश धरातल पर उतर आया है। स्थितिचित्र प्रमुखतः उन प्रेक्षकों के लिए बने हैं जो करीब 20 से 30 उत्तरी अक्षांशों के…….

Aakash Darshan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Pustak mein tara-Mandalon ke jo sthitichitr hain unhen disha-nirdesh ke anusar sir ke oopar dharan karake taron ko pahchanana chahiye. Aur, vrshabh, kanya, sinh aadi ke chitrankanon ka upyog, disha-nirdesh ke anusar, is prakar kiya jana chahiye mano aakash dharatal par utar aaya hai. Sthitichitr pramukhatah un prekshakon ke liye bane hain jo kareeb 20 se 30 uttari akshashon ke…….
Short Description of Aakash Darshan PDF Book : The position diagrams of the constellations in the book should be worn on the top of the head as per the guidelines to identify the stars. And, the portraits of Taurus, Virgo, Leo etc. should be used, as per the guidelines, as if the sky has come down to the surface. The location pictures are mainly made for those observers who are around 20 to 30 north latitudes…..
“विवाह एक ढका हुआ पकवान है।” ‐ स्विस कहावत
“Marriage is a covered dish.” ‐ Swiss Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment