अपने अपने अजनबी : अज्ञेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Apne Apne Ajnabi : by Agyey Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

अपने अपने अजनबी : अज्ञेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Apne Apne Ajnabi : by Agyey Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अपने अपने अजनबी / Apne Apne Ajnabi
Author
Category, , ,
Pages 118
Quality Good
Size 44.7 MB
Download Status Available

अपने अपने अजनबी का संछिप्त विवरण : वह क्या उस नीरवता के कारण ही था, या कि अवचेतन रूप से सन्‍नाटे का ठीक-ठीक- अर्थ भी योके समझ गयी थी, कि उसका दिल इतने ज़ोर से धड़कने लगा था? मानो सनन्‍नाटे के दबाव को उस के हृदय की धड़कन का दबाव रोक कर अपने वश कर लेता चाहता हो………

Apne Apne Ajnabi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Vah kya us Neeravata ke karan hi tha, ya ki Avachetan roop se san‍nate ka theek-theek- arth bhi yoke samajh gayi thee, ki usaka dil itane zor se dhadakane laga tha? Mano sanan‍nate ke dabav ko us ke hrday ki dhadakan ka dabav rok kar apane vash kar leta chahata ho………
Short Description of Apne Apne Ajnabi PDF Book : Was it because of that silence, or that he had subconsciously understood the exact meaning of the silence, that his heart was beating so hard? As if you wanted to control the pressure of silence by stopping the pressure of his heartbeat…….
“आप कभी भी इतने बूढ़े नहीं होते कि एक नया लक्ष्य न निर्धारित कर सकें या एक नया सपना न देख सकें।” – सी एस लुईस
“You are never too old to set another goal or to dream a new dream.” – C S Lewis

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment