लिखि कागद कोरे : अज्ञेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Likhi Kagad Kore : by Agyey Hindi PDF Book

लिखि कागद कोरे : अज्ञेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Likhi Kagad Kore : by Agyey Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name लिखि कागद कोरे / Likhi Kagad Kore
Author
Category, , ,
Pages 126
Quality Good
Size 7.2 MB
Download Status Available

लिखि कागद कोरे का संछिप्त विवरण : कोरे कागद का इससे अच्छा उपयोग न जनता होऊँ, सो बात नहीं | वल्कि यह भी मानना चाहता हूँ कि प्रायश: तो इससे अच्छे ही काम में उसे लगता हूँ | और सुलभक्त हुआ पाठक ( अगर सुलभक्त जाने के बाद भी ऐसी पुस्तक पड़ेगा ) तो यह भी पहचानेगा कि ये लेख वास्तव में वैसा सत्य नहीं है जिसके लिए पारस्परिक ‘कोरे कागद’ का व्यवहार सहमत रहा…….

Likhi Kagad Kore PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kore kagad ka isse achcha upayog na janta hoon, so baat nahin. Valki yah bhi manna chahata hoon ki prayash: to isase achche hi kaam mein use lagata hoon. Aur sulabhakt hua pathak ( agar sulabhakt jane ke baad bhi aisi pustak padega ) to yah bhi pahachanega ki ye lekh vastav mein vaisa saty nahin hai jiske lie parasparik kore kagad ka vyavahar sahamat raha……………………..
Short Description of Likhi Kagad Kore PDF Book : No good use of the other paper, so it does not matter. Walki also wants to believe that he is interested in it. And the reader who has become well-wisher (if such a book will fall), then it will also recognize that this article is not exactly the truth, for which the mutual “blank paper”………………………
“आप प्रत्येक ऐसे अनुभव जिसमें आपको वस्तुत डर सामने दिखाई देता है, से बल, साहस तथा विश्वास अर्जित करते हैं। आपको ऐसे कार्य अवश्य करने चाहिए जिनके बारे में आप सोचते हैं कि आप उनको नहीं कर सकते हैं।” ‐ एलेनोर रुज़वेल्ट
“You gain strength, courage, and confidence by every experience in which you really stop to look fear in the face. You must do the thing which you think you cannot do.” ‐ Eleanor Roosevelt

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment