अर्थान्तर : कन्हैयालाल ओझा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Arthantar : by Kanhaiyalal Ojha Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

अर्थान्तर : कन्हैयालाल ओझा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Arthantar : by Kanhaiyalal Ojha Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अर्थान्तर / Arthantar
Author
Category, , , ,
Language
Pages 367
Quality Good
Size 31 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जीवन के रहस्य से तो हमारा स्पष्ट परिचय नही है । जीवन के उसी वर्ष को जानने का दावा हम कर सकते हैं, जो हमारे सामने है । जन्म तथा मृत्यु नाम की घटनाओं के पहले और बाद की अवस्थाओं का कोई प्रामाणिक परिचय हमारे पास नहीं, अत: उसकी सिद्धि की बात कहना क्या हमारे लिए वातुलता नहीं होगी हैं जीवन की जन्म…….

Pustak Ka Vivaran : Jeevan ke Rahasy se to hamara spasht parichay nahi hai . Jeevan ke usi varsh ko janane ka dava ham kar sakate hain, jo hamare samane hai . Janm tatha mrtyu nam ki Ghatanayon ke pahale aur bad ki Avasthaon ka koi pramanik parichay hamare pas nahin, At: usaki siddhi ki bat kahana kya hamare liye vatulata nahin hogi hain jeevan ki janm………

Description about eBook : We do not have a clear introduction to the mystery of life. We can claim to know the same year of life, which is in front of us. We do not have any authentic introduction to the stages before and after the events of birth and death, so to speak of his accomplishment, will there not be a vat for us………

“अपने चरित्र में सुधार करने का प्रयास करते हुए, इस बात को समझें कि क्या काम आपके बूते का है और क्या आपके बूते से बाहर है।” ‐ फ्रांसिस थामसन
“In attempts to improve your character, know what is in your power and what is beyond it.” ‐ Francis Thompson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment