मौत की जिंदगी : प्रफुल्लचंद्र ओझा ‘मुक्त’ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Maut Ki Zindagi : by Praphullachandra Ojha ‘Mukt’ Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

मौत की जिंदगी : प्रफुल्लचंद्र ओझा 'मुक्त' द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Maut Ki Zindagi : by Praphullachandra Ojha 'Mukt' Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मौत की जिंदगी / Maut Ki Zindagi
Author
Category, , , ,
Language
Pages 89
Quality Good
Size 3.32 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : बूढी दादी को देखता आया था, अलबत्ता साल दो साल कभी-कभी उनके दूर के रिश्ते के भाई-भतीजे दो-एक हफ्ते लिए वहां आ टिकते थे, बादल उन सब को जानता था; लेकिन इन बच्चों को तो इसके पहले उसने कभी देखा नहीं कोन हैं ये ? कहाँ से आये है ? और क्यों इस तरह सूनी आँखों से बहार की ओर एकतक देखा हें………….

Pustak Ka Vivaran : Boodhee Dadi ko Dekhata Aaya tha, Alabatta sal do sal kabhi-kabhi unake door ke Rishte ke bhai-bhateeje do-ek hafte lie vahan aa tikate the, Badal un sab ko janata tha; Lekin in Bachchon ko to isake pahale usane kabhi dekha nahin kaun hain ye ? Kahan se Aaye hai ? Aur kyon is Tarah Sooni Aankhon se bahar kee or Ekatak dekha hain……..

Description about eBook : The old grandmother had come to see him, though for two years, sometimes the nephews of their distant relations used to stay there for two weeks, Badal knew them all; But he has never seen these children before, who are these? Where did you come from? And why have you looked so lonely out of the way………..

“जो सब आप बनना चाहते हैं वह अपने समय से पहले नहीं बन सकते।” पीपलवेयर: प्रॉडक्टीव प्रोजेक्ट्स एंड टीम्स
“You can’t be everything you want to be before your time.” Peopleware: Productive Projects and Teams

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment