दिगम्बरी : सूर्यकुमार जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Digambari : by Suryakumar Joshi Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

दिगम्बरी : सूर्यकुमार जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Digambari : by Suryakumar Joshi Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name दिगम्बरी / Digambari
Author
Category, , , ,
Pages 98
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : धीरे-धीरे से एकाकी होता गया । मैं शराब पीने लगा। नशे में मेरी सुप्त, अतृत्त इच्छाएँ कल्पना के सहारे सतुष्टि प्राप्त करने का प्रयास करने लगी। मैं समझने लगा कि जो अद्दृष्ट और अज्ञात वस्तु मैंने मूर्त जीवन मैं नही पाई, साहित्यिक कल्पना में पा सकूँगा। मैंने महान कलाकारों की कृतिया पढना आरंभ किया, और उन्होने मुझे किसी हृद तक गिरफ्तार भी किया, लेकिन स्व॑य लिखने की कोशिश करने पर सब……

Pustak Ka Vivaran : Dheere-dheere se Ekaki hota gaya . Main sharab Peene laga. Nashe mein meri supt, atrtt ichchhayen kalpana ke sahare satushti prapt karane ka prayas karane lagi. Main samajhane laga ki jo adrsht aur agyat vastu mainne moort jeevan main nahi payi, sahityik kalpana mein pa sakunga. Mainne mahan kalakaron ki krtiya padhana aarambh kiya, aur unhone mujhe kisi had tak giraphtar bhi kiya, lekin svany likhane ki koshish karane par sab…..

Description about eBook : Gradually, it became lonely. I started drinking alcohol. Drunk my dormant, unquenchable desires with the help of imagination started trying to get satisfaction. I started to understand that the unseen and unknown thing which I could not find in tangible life, I will be able to find in literary imagination. I started reading the works of great artists, and they even arrested me to some extent, but trying to write on my own…..

“अपने विरोधियो से मित्रता कर लेना क्या विरोधियों को नष्ट करने के समान नहीं है?” अब्राहम लिंकन
“Am I not destroying my enemies when I make friends of them?” Abraham Lincoln

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment