दिव्या : यशपाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Divya : by Yashpal Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameदिव्या / Divya
Author
Category, ,
Language
Pages 284
Quality Good
Size 19 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : महासेनापति ने युवकों को कवच उतार अपने विशेष भरोसे का एक शस्त्र चुन लेने की आज्ञा दी। आयुष्मान इन्द्रदीप और विनय शर्मा ने भाले लिए और शेष युवकों ने खड़। महासेनापति ने निर्देश किया- “प्रत्येक आयुष्मान शेष युवकों को आक्रमणकारी मान अपनी रक्षा करता हुआ, आक्रमणकारियों को घायल करे। ” उन्होंने चेतावनी ……….

Pustak Ka Vivaran : Maha Senapati ne yuvakon ko kavach utaar apane vishesh bharose ka ek shastra chun lene kee Aagya dee. Aayushmaan indradeep aur vinay sharma ne bhale liye aur shesh yuvakon ne khang. Mahasenapati ne nirdesh kiya- pratyek aayushman shesh yuvakon ko aakramanakaree maan apani raksha karata huya, Akramanakariyon ko ghayal kare. Unhonne chetavani…………

Description about eBook : The general commanded the youth to take off the armor and choose an weapon of their special trust. Ayushman Indradeep and Vinay Sharma took spears and the remaining youths spent. The Mahasenapati directed- “Every Ayushman should protect the remaining youths as invaders and injure the invaders.” “He warned………..

“असफल व्यक्तियों में से निन्यानवे प्रतिशत वे लोग होते हैं जिनकी आदत बहाने बनाने की होती है।” ‐ जॉर्ज वाशिंगटन कार्वर
“Ninety-nine percent of all failures come from people who have the habit of making excuses.” ‐ George Washington Carver

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment