मनस्तत्त्व : यशदेव शल्य द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Manstattva : by Yashdev Shalya Hindi PDF Book – Social (Samajik)

मनस्तत्त्व : यशदेव शल्य द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Manstattva : by Yashdev Shalya Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मनस्तत्त्व / Manstattva
Author
Category, ,
Language
Pages 368
Quality Good
Size 46 MB
Download Status Available

मनस्तत्त्व का संछिप्त विवरण : यह पुस्तक विश्व विद्यालयों के दर्शन के विद्यार्थियों के लिए भी उपयोग की हो सकती हैं। यद्पि इसमें जीव वैज्ञानिक अध्ययन कुछ अधिक है और दर्शन के विद्यार्थियों को जीव विज्ञान का ज्ञान इतना नहीं होता, किन्तु उन्हें यह जीव विज्ञान के कोर्स के लिए नहीं पढ़नी है, वे जीव वैज्ञानिक तथ्यों की उलझन में पड़े बिना इसके…….

Manstattva PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yah Pustak Vishv Vidyalayon ke darshan ke vidyarthiyon ke liye bhi upayog ki ho sakati hain. Yadyapi isamen jeev Vaigyanik Adhyayan kuchh Adhik hai aur darshan ke vidyarthiyon ko jeev vigyan ka gyan itana nahin hota, kintu unhen yah jeev vigyan ke kors ke liye nahin padhani hai, ve jeev Vaigyanik Tathyon kee Ulajhan mein pade bina isake………
Short Description of Manstattva PDF Book : This book can also be of use to students of philosophy of universities. Although there is a lot of biological study in it and the students of philosophy do not have much knowledge of biology, but they do not have to study it for the course of biology, without getting confused of biological facts ……
“समस्या से बचने के लिए प्रार्थना न करें। अपनी सहज भावनाओं के लिए भी प्रार्थना न करें। प्रत्येक स्थिति में भगवान की मर्जी का पालन करने के लिए प्रार्थना करें। इससे अलावा किसी अन्य प्रार्थना का कोई मूल्य नहीं है।” ‐ सेम्यूल एम. शूमेकर
“Don’t pray to escape trouble. Don’t pray to be comfortable in your emotions. Pray to do the will of God in every situation. Nothing else is worth praying for.” ‐ Samuel M. Shoemaker

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment