मुसाफिर हूँ यारों : डॉ. नवीन शंकर पाण्डेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Musafir Hun Yaron : by Dr. Navin Shankar Pandey Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

मुसाफिर हूँ यारों : डॉ. नवीन शंकर पाण्डेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Musafir Hun Yaron : by Dr. Navin Shankar Pandey Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मुसाफिर हूँ यारों / Musafir Hun Yaron
Author
Category, ,
Language
Pages 84
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : उन सभी लोगों का जिन्होनें मेरी इन यात्राओं में कहीं न कहीं प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से अपना सहयोग दिया है। उन सभी साहित्यकारों का गली कतियाँ ईतियाँ मेरे लेखन की प्रेरणा स्रोत बनी । उन सभी मित्रों, परिजनों एवं गुरुजनों का, ई हर कदम पर मेरा मार्गदर्शन किया है । सदा नतमस्तक रहूँगा अप स्व0 पिता जी के प्रति जिन्होनें मेरे मार्ग की………

Pustak Ka Vivaran : Un Sabhi Logon ka Jinhonen meri in yatraon mein kahin na kahin pratyaksh ya apratyaksh Roop se apana sahayog diya hai. Un Sabhi sahityakaron ka gali katiyan eetiyan mere lekhan ki prerana srot bani. Un sabhi Mitron, parijanon evan Gurujanon ka, E har kadam par mera margdarshan kiya hai . Sada Natmastak rahunga apane Sva. Pita jee ke prati jinhonen mere marg ki……….

Description about eBook : All those people who have contributed directly or indirectly in my visits somewhere. All those litterateurs’ Galli Kati eti became the inspiration of my writing. All those friends, family and gurus have guided me at every step. I will always be devoted to my own father who took my path ………

“मैं कठिनाईयों से बचने की प्रार्थना नहीं करता हूं, बल्कि मैं उन्हें सहन करने के लिए पर्याप्त सामर्थ्य प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।” – फिलिप ब्रूक्स
“I do not pray for a lighter load, but for a stronger back.” – Philip Brookes

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment