तोता : रवीन्द्रनाथ ठाकुर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Tota : by Ravindra Nath Thakur Hindi PDF Book – Story (Kahani)

Book Nameतोता / Tota
Author
Category, , ,
Language
Pages 24
Quality Good
Size 628 KB

पुस्तक का विवरण : भानजे ने सहज भाव से निवेदन किया, ““महराज, आप तो ईश्वर की तरह सब कुछ जानते हैं। फिर भी अगर आप सच्चाई का पता लगाना चाहते हैं तो बुलवाईए सुनारों को, पंडितों को, नकल-नवीसों को, बुलवाइए मरम्मत करने वालों को, बुलवाइए चौकसी करने वालों को। निठल्ले निंदकों के पास और काम ही क्या है? उन्हें खाने को नहीं मिलता इसलिए निंदा करते हैं…….

Pustak Ka Vivaran : Bhanaje ne sahaj bhav se Nivedan kiya, ”Maharaj, aap to Ishvar ki tarah sab kuchh janate hain. Phir bhi agar aap sachchayi ka pata lagana chahate hain to bulavayi sunaron ko, panditon ko, nakal-naveeson ko, bulavaiye marammat karne valon ko, bulavaiye chaukasi karne valon ko. nithalle nindakon ke pas aur kam hi kya hai ? Unhen khane ko nahin milata isliye ninda karte hain…….

Description about eBook : The nephew pleaded effortlessly, “Sir, you know everything like God. Still, if you want to find out the truth, then call goldsmiths, pundits, copycats, repairmen, call watchmen. What other work do blasphemers have? They don’t get to eat that’s why they condemn…..

“जब किसी व्यक्ति द्वारा अपने लक्ष्य को इतनी गहराई से चाहा जाता है कि वह उसके लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार होता है, तो उसका जीतना सुनिश्चित होता है।” – नेपोलियन हिल
“When a man really desires a thing so deeply that he is willing to stake his entire future on a single turn of the wheel in order to get it, he is sure to win.” – Napoleon Hill

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment