आरंभिक रुचिकर प्रस्तुति : रमेश चन्द्र भार्गव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Arambhik Ruchikar Prastuti : by Ramesh Chandra Bhargav Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameआरंभिक रुचिकर प्रस्तुति / Arambhik Ruchikar Prastuti
Author
Category,
Language
Pages 2
Quality Good
Size 5.2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जिस प्रकार ईश्वर ने क्रमबार आकाश, वायु, सूर्य, जल एवं पृथ्वी नामक प्रकृति के इन पंच महाभूतों की उत्पत्ति करते हुए सृष्टि की रचना की ठीक इसी प्रकार ईश्वर ने मानव शरीर का निर्माण भी इन्ही पंच तत्वों से किया है। इसीलिए मनुष्य को अपनी जीवन यात्रा प्रकृति के अनुरूप चलाना ही श्रेयस्कर है। उत्पत्ति के कर्म में चूँकि सर्वप्रथम आकाशतत्व का उत्थान ………

Pustak Ka Vivaran : Jis Prakar Ishvar ne kramabar Akash, vayu, soory, jal evan prthvee namak prakrti ke in panch mahabhooton kee utpatti karate huye srshti kee rachana kee theek isee prakar eeshvar ne manav shareer ka nirman bhee inhee panch tatvon se kiya hai. isiliye manushy ko apani jeevan yatra prakrti ke anuroop chalana hee shreyaskar hai. Utpatti ke karm mein choonki sarvapratham aakashatatv ka utthan…………

Description about eBook : Just as God created the creation of these five elements of nature called heaven, air, sun, water and earth, in the same way, God created the human body with the same five elements. That is why it is best for a man to follow his life’s journey in accordance with nature. Since the birth of karma in the first act………………

“ऐसे लोगों के लिए परिणाम सर्वश्रेष्ठ रहते हैं जो कि सामने आने वाली परिस्थितियों में सर्वश्रेष्ठ कार्य निष्पादन करते हैं।” ‐ आर्ट लिंकलैटर
“Things turn out best for the people who make the best out of the way things turn out.” ‐ Art Linkletter

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment