जीववृत्ति – विज्ञान : डॉ. महाजोत सहाय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Jeev Vratti – Vigyan : by Dr. Mahajot Sahay Hindi PDF Book – Social (Samajik)

जीववृत्ति - विज्ञान : डॉ. महाजोत सहाय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Jeev Vratti - Vigyan : by Dr. Mahajot Sahay Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जीववृत्ति – विज्ञान / Jeev Vratti – Vigyan
Author
Category, ,
Language
Pages 169
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : पिछले अध्याय में जिन ज्ञानेंद्रियों का हम ने जिक्र किया है उन से हमें अपने शरीर ही की विविध दशाओं का ज्ञान होता है | जीवबृत्ति-विज्ञान की दृष्टि से हमारा शरीर भी एक वस्तु ही है । भेद केवल इतना है कि अन्य वस्तुओं की अपेक्षा शरीर से हमारा अधिक संबंध है । अब हम उन प्रसिद्ध ज्ञानेंद्रियों का वर्णन करेंगे जिन से हमें शरीरेतर……..

Pustak Ka Vivaran : Pichhale Adhyay mein jin Gyanendriyon ka ham ne jikra kiya hai un se hamen apane shareer hi ki vividh dashayon ka gyan hota hai. Jeevabrtti-vigyan ki drshti se hamara shareer bhi ek vastu hi hai . Bhed keval itana hai ki any vastuon ki apeksha shareer se hamara adhik sambandh hai . Ab ham un prasiddh Gyanendriyon ka varnan karenge jin se hamen shareeretar………

Description about eBook : The knowledge centers we have mentioned in the previous chapter give us knowledge of the various conditions of our body. In terms of biology, our body is also an object. The only difference is that we have more connection with the body than other things. Now we will describe the famous knowledge centers from which we can get the body …….

“नफरत जितनी चिंगारियां को बुझाती है प्रेम उससे कहीं अधिक चिंगारियां पैदा करता है।” ‐ एला व्हीलर विलकोक्स
“Love lights more fire than hate extinguishes.” ‐ Ella Wheeler Wilcox

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment