पक्षी अपना रास्ता कैसे ढूँढते हैं : रोमा | Pakshi Apna Rasta Kaise Dhundte Hain by Roma Hindi PDF Book

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name पक्षी अपना रास्ता कैसे ढूँढते हैं / Pakshi Apna Rasta Kaise Dhundte Hain
Author
Category,
Language
Pages 32
Quality Good
Size 4.7 MB
Download Status Available

पक्षी अपना रास्ता कैसे ढूँढते हैं का संछिप्त विवरण : अगर हम पूरे सात्र चिड़ियों को ध्यान से देखें, तो हम पाएंगे की पतझड़ के समय – जब दिन छोटे और ठन्डे होने लगते हैं, तब कुछ चिड़िये, अचानक गायब हो जाती हैं. वो दक्षिण की ओर पत्रायन करती हैं, जहाँ उस समय गर्मी होती है………

Pakshi Apna Rasta Kaise Dhundte Hain PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Agar ham poore satra chidiyon ko dhyan se dekhen, to ham payenge ki Patajhad ke samay – jab din chhote aur thande hone lagate hain, tab kuchh chidiye, achanak gayab ho jati hain. Vo Dakshin kee or patrayan karati hain, jahan us samay garmi hoti hai………
Short Description of Pakshi Apna Rasta Kaise Dhundte Hain PDF Book : If we look carefully at all the seven birds, we will find that during the autumn – when the days start getting shorter and colder, then some of the birds suddenly disappear. They travel towards the south, where it is hot at that time………
“हमारे कई सपने शुरू में असंभव लगते हैं, फिर असंभाव्य, और फिर, जब हममें संकल्पशक्ति आती है तो ये सपने अवश्यंभावी हो जाते हैं।”
“So many of our dreams at first seem impossible, then seem improbable, and then, when we summon the will, they soon seem inevitable.” ‐ Christopher Reeve

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment