खम्मा अन्नदाता : यादवेन्द्र शर्मा ‘चन्द्र’ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Khamma Annadata : by Yadvendra Sharma ‘Chandra’ Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameखम्मा अन्नदाता / Khamma Annadata
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 228
Quality Good
Size 8 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मुझे बचपन में दुलारकर कहा था, “कुंबर सा ! जब आप परेशान हों तब भगवान की अरदासना में मन लगाकर ऊँ शांति, शांति का जाप करें | इससे मन को अलौकिक सुख और संतोष मिलेगा समझता हूँ कि आज वह वक्‍त आ गया है जब इस ऐश्याश मुर्दे को प्रभु की सत्ता के नीचे मन लगाकर अशांति से मुक्ति पाने की प्रार्थना करनी होगी……

Pustak Ka Vivaran : Mujhe Bachpan mein dularkar kaha tha, “Kumbar Sa ! Jab aap pareshan hon tab bhagvan ki aradasana mein man lagakar om shanti, shanti ka jap karen . Isase man ko alaukik sukh aur santosh milega samajhata hoon ki Aaj vah vakt aa gaya hai jab is aiyyash murde ko prabhu ki satta ke neeche man lagakar ashanti se mukti pane ki prarthana karani hogi…….

Description about eBook : In my childhood, I was told by Dularkar, “Kumbar Sa! When you are troubled, then chant “Peace, Peace” by meditating in the worship of God. It will give supernatural happiness and satisfaction to the mind, I understand that today is the time when this heartless dead will have to pray under the power of God and pray for freedom from disturbance….

“अपना जीवन जीने के केवल दो ही तरीके हैं। पहला यह मानना कि कोई चमत्कार नहीं होता है। दूसरा है कि हर वस्तु एक चमत्कार है।” -अल्बर्ट आईन्सटीन
“There are only two ways to live your life. One is as though nothing is a miracle. The other is as though everything is a miracle.” -Albert Einstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment